Monday, September 11, 2017

माननीय रक्षा मंत्री ने ‘नाविका सागर परिक्रमा’ को झंडी दिखाकर रवाना किया ।



माननीय रक्षा मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने आज )10 सितम्‍बर) दोपहर 1 बजे गोवा से भारतीय नौ सेना के पोत वाहक जहाज तरिणी (आईएनएसवी तरणी) को झंडी दिखाकर रवाना किया। गोवा के आईएनएस मंडोवी नौका पूल से रवाना किए गए इस पोत की विशेषता यह है कि इसमें सभी महिला क्रू शामिल है। पहली बार भारतीय नौसेना के पोत वाहक जहाज आईएनएसवी तरिणी पूरे संसार की जल यात्रा के लिए चालक दल की सभी महिला सदस्‍यों के नेतृत्‍व में निकला है। समुद्री यात्रा की समाप्‍ति पर इस जहाज के अप्रैल, 2018 में वापस गोवा लौटने की आशा है। यह अभियान पांच चरणों में पूरा होगा। यह आस्‍ट्रेलिया के फ्रीमेनटेली, न्‍यूजीलैंड लाइटलेटन, पोर्टसिडनी के फॉक्‍ लेंड्स और दक्षिण अफ्रीका के केपटाउन आदि चार बंदरगाहों पर रूकेगा।

Hon’ble Raksha Mantri Flags off Navika Sagar Parikrama

Image result for Hon’ble Raksha Mantri Flags off Navika Sagar Parikrama

Smt. Nirmala Sitharaman, Hon’ble Raksha Mantri flagged-off Indian Naval Sailing Vessel Tarini (INSV Tarini) with an all women crew from INS Mandovi boat pool, Goa at 01:00 PM today (10 Sep17). This is the first-ever Indian circumnavigation of the globe by an all-women crew and shall attempt to circumnavigate the globe on Indian Navy’s sailing vessel INSV Tarini. The crew is expected to return to Goa in April 2018, on completion of the voyage. The expedition will be covered in five legs, with stop-overs at 4 ports viz. Fremantle (Australia), Lyttleton (New Zealand), Port Stanley (Falklands), and Cape Town (South Africa). 

M1